हिन्दी English


how to find a good husband

बदलते समाज में बदली हुई मेरे जैसी तमाम लड़कियां है जो arranged marriage की कल्पना से बिदकती है लेकिन अपने आस-पास के दर्जनों उदाहरण देख कर कह सकती हूँ कि इनमें से ज्यादातर लड़कियाँ ढंग की लव मैरिज करने में असफल है and results are- एक पिटी हुई शादीशुदा जिंदगी, हर दिन की किचकिच, तलाक, और फेसबुक पर unsatisfied wives का सुपर एक्टिव गिरोह जो पति को ऑफिस भेजने के बाद प्यार की तलाश में नियमित तौर पर इनबॉक्स की ओर कूच करता है।अगर आपको एक सफल प्रेमविवाह चाहिए जो आगे चल कर पंगा खड़ा ना करें तो कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए -


1. अपने यहाँ प्रेमविवाह में पारिवारिक चोंचले होते ही हैं लेकिन हमारे समाज की दुखद सच्चाई है कि बगावत से किया गया प्रेमविवाह जब असफल होता है तो सबसे ज्यादा बैंड लड़की की बजती है इसीलिए किसी पुरुषों के मुकाबले औरतों को दस गुना ज्यादा सावधान रहने की जरूरत है। क्रन्तिकारी सोच सही है पर निजी रिश्तों में practicality ज्यादा जरूरी है वरना जब पति निकम्मा निकल जाए और घर से ताने सुनने को मिले,"तुम्हारी ही पसन्द थी, अब झेलो" तो "जिंदगी में बम्बू होना" जैसी कहावतों का गूढ़ मतलब समझ आने लगता है।

2. अगर आपका पार्टनर बहुत अच्छा है तो भी परिवार से acceptance लेने की यथासम्भव कोशिश करने के बाद ही शादी करें वरना भविष्य में जब प्यार का हनीमून पीरियड(which lasts around साल भर) खत्म हो चूका होता है तो दिमाग में कही ना कही यह बात आती रहती है कि एक लड़के के लिए पुरे परिवार को खोना कहीं ज्यादा बड़ी कीमत तो नहीं थी? आपके माता-पिता कट्टर, पारम्परिक सोच वाले हो या मॉडर्न फ्रेंडली, अगर वो आपके साथ नहीं है तो मन में कड़वाहट भरेगा और बहुत चांस है कि आपका यह फ्रस्ट्रेशन आपके पार्टनर पर किसी ना किसी रूप में निकलेगा।बहुत से अच्छे रिश्ते इस चक्कर में नर्क बन जाते हैं।

3. एक अच्छा पार्टनर ढूंढने के लिए सबसे जरूरी बात है कि आपको ब्रेकअप सम्भालना आना चाहिए( unfortunately ज्यादातर लड़कियाँ इस कला को नहीं जानती)।20 से 25 के उम्र तक होने वाला हर प्यार सच्चा ही होता है और हर बॉयफ्रेंड soulmate (you know मेघा वह बाकि लड़को से बिल्कुलल्ल अलग है।)इसीलिये पहले प्यार में ही शादी के आग में कूदने की कोशिश ना करें।कुछ लोग घने भाग्यशाली होते है और उनका पहले नजर का प्यार सफलता के बुलन्दियों को छूता है पर ज्यादातर को ढंग का पार्टनर ढूंढने से पहले 5-6 ब्रेकअप्स के कठिन डगर से गुजरना पड़ता है और तब जा कर उन्हें अंदाजा होता है कि आखिर उन्हें कैसा पार्टनर चाहिए।

4. ब्रेकअप के बाद सम्भलने के लिए कभी किसी पुरुष दोस्त पर ज्यादा डिपेंड ना करें हालाँकि ऐसा करने का लालच आपके मन में आएगा जरूर(due to natural attraction with opposite sex)। ऐसे दुखद समय में सहारा देने के लिए तमाम कन्धे आपकी तरफ बढ़ेंगे लेकिन अगर आपको एक और complicated relationships शुरू नहीं करना है तो इनसे बच कर रहिये। चूँकि लड़के बहुत ही selfless और सेवाभाव से लबालब जीव होते है तो इसीलिये लड़की के आँसू पोंछते-पोंछते स्वाभाविक रूप से उनके मन में यह ख्याल आता है कि इस बेचारी को मेरे जैसे शरीफ लड़के की सख्त जरूरत हैं और वो अगले दावेदार के रूप में खुद को पेश करते हैं।

5.ब्रेकअप से उबरने में तिन चीजे लड़कियों के लिए बहुत मददगार साबित होती हैं- एक टन चॉकलेट, शॉपिंग और कुछ ऐसी गर्लफ्रेंड्स जो आपके साथ बैठ कर आपके ex के पुरे खानदान की चुगली करें। इन चीजों का यथसम्भव प्रयोग करे और अति-सेंटी गानों, फिल्मों, उपन्यासों और लोगों से डेढ़ हजार मील की दुरी बनाये रखें। I promise u will be able to get through this tough time.

6.ब्रेकअप के बाद का समय introspection का होता है जब आप अपनी और अपने ex की गलतियों को समझने की कोशिश करती है और भविष्य में उनसे बचने की कसम खाती है।अभी आप अकेला महसूस करेंगी और ऐसे में अपनी ओर बढ़े हाथ को तुरन्त थामना चाहेंगी लेकिन it's a BIG NO.अगर आपको सच में अच्छा इंसान चाहिए तो थोड़ा सा धैर्य रखें और असफल रिश्तों से सीखें, घबराये नहीं।

7.सिर्फ इसलिए क्यूकी किसी गधे ने आपको रिजेक्ट कर दिया या धोखा दे दिया इसका मतलब यह नहीं हैं कि आप अपना सेल्फ- कन्फिडेंस हिला दे और insecurity पाल कर बैठ जाये।पहले आप खुद को अपनाइये, अपने महत्व को पहचानिये और अपनी इज्जत करना सीखिये तभी कोई लड़का ऐसा करेगा।अगर आपका आत्मविश्वास कम होगा तो 90% चांस है कि किसी idiot को पार्टनर चुनेंगी जो आपके लायक भी नहीं होगा।

8.औरतों की एक किस्म है जो हाथ में सिगरेट लिए गम्भीर दार्शनिक सी दिखने वाली लड़की की DP लगाती है(जिसके कोने में कर्सिव में एक बगावती सुविचार लिखा होता हैं),ये औरतें अक्सर शिकायत करती हैं कि लड़के इनको गर्लफ्रेंड मटीरियल समझते है पर पत्नी नहीं बनाते; इनके साथ बेड पर जाते है पर मण्डप तक नहीं।अगर आप कच्ची उम्र की एक कॉलेज की बच्ची हैं जो इस राह पर आगे बढ़ने का सोच रहीं है तो कृप्या ध्यान दें-

# अगर आपने अपनी गर्लफ्रेंड्स के साथ बैठ कर कभी सुबह चार बजे तक दारू पी कर सेंटी बकवास बातें की हो तो आपने यकीनन एक मजेदार अनुभव को जिया हैं लेकिन शराब और सिगरेट अगर आपके रोजमर्रा के जीवन का हिस्सा है तो आप कोई आजाद ख़्याल की मॉडर्न औरत नहीं हैं बल्कि एक ऐसी कमजोर इंसान हैं जो addiction और instant gratification से दूर नहीं रह सकता।अपनी इस कमजोरी को आजादी और सशक्तिकरण जैसी बातों का जामा पहना कर बकवास करने की कोशिश ना करें।एक परिवार शुरू करने से पहले आपको ज्यादा मजबूत होने की जरूरत है।यह बात पुरुषों पर भी बराबर लागु हैं।

# अगर आपका bf (या सहेलियां) सिगरेट पीने के बाद इलायची चबा कर आपके पास आ रहें हैं तो वो आपको लेकर जिम्मेदार है पर अगर वो आपको पिलाने की कोशिश कर रहें हैं तो you need to think twice about that relationship.

# आपकी इन आदतों को सपोर्ट करने वालें लड़के आपसे शादी करने के लिए शायद ही तैयार हो(exceptions r always there) इसीलिये इस बात का ध्यान रखें कि लड़का आपको लेकर सीरियस हैं या नहीं। दुखद सच्चाई है कि ऐसी लड़कियाँ हमारे समाज में यूज ज्यादा होती है और तो और इनमें से कई ऐसी होती हैं कि नारीवादी पुरुष इनको बिस्तर पर सिमोन-साद्र की कहानीयाँ सुना कर लात मार देते हैं और इन्हें पता भी नहीं चलता की ये कितनी बड़ी बेवकूफ बन गयी हैं।

# एक सच्चाई समझने की कोशिश कीजियेगा कि शादी दो परिवारों के बीच होता है इसलिए अगर कोई लड़का अपने साठ साल की माँ के भेजे में यह बात नहीं फिट कर पा रहा कि मेरी वाइल्ड आदतों वाली गर्लफ्रेंड एक बुरी इंसान नहीं बल्कि एक empowered lady है, तो इसमें उस लड़के की कोई गलती नहीं हैं। वह शादी से अपना कदम पीछे खिंचेगा क्यूकी उसे उसकी माँ साथ चाहिए।

# यह गलतफहमी बिलकुल ना पाले कि आपकी हर आदत आपके पार्टनर द्वारा अपना ली जायेगी। खुद को इम्प्रूव करने की कोशिश करती रहें क्यूकी unconditional love जैसी किताबी बातें बहुत जिंदगियाँ तबाह कर देती हैं।अगर किसी लड़के का व्यक्तित्व शानदार होगा तो उसे पत्नी भी वैसी ही चाहिए होगी (व्यक्तित्व has nothing to do with your face and figure.)

So you can be either idealistic or realistic. अगर आप बिना किसी compromise के आईडियलिस्टिक बनना चाहती हैं तो जरूर बने लेकिन रास्ते के काँटों और जीवन की सच्चाइयों को समझे जरूर वरना ऐसी बहुत सी औरतें है जो बस समाज को गरियाते हुए अकेले अवसाद में जीवन बिता देती है।आपको पसन्द हो या ना हो पर यह सच्चाई है कि एक उम्र के बाद 95% लोगों को पारिवारिक जीवन की सख्त जरूरत महसूस होती हैं। अगर आप उस मजबूत पांच प्रतिशत में होने की गलतफहमी ना पाली हुई हो तो एक अच्छे इंसान को ढूंढने और उसके लायक बनने की कोशिश जरूर करें।
तो बस बैग पैक करें और निकल जाये सच्चे प्यार की तलाश में। Have a few nice breakups and ultimately a beautiful love marriage..

टिप्पणी

क्रमबद्ध करें

© C2016 - 2020 सर्वाधिकार सुरक्षित Website Security Test