हिन्दी English



मैं फेसबुकीया राजनीतिज्ञ हूँ। भले ही कभी कभी मुझे मेरा बाप पहचानने से मना कर दे लेकिन यहाँ मैं ऐसे जताऊंगा जैसे मोदी सुबह उठ योगा से पहले मेरी पोस्ट पढता है। भले ही मेरे घर वाले मुझे बाजार से सब्जी लायक भी ना समझें लेकिन मैं फेसबूक पर भाजपा ने किसे टिकट देना चाहीये या नहीं पर लंबी सी पेस्ट चेपूंगा। भले ही मुझे बिना कैल्क्युलेटर के % निकालना ना आये लेकिन मैं यहाँ से बताऊँगा कि नोटबंदी से भारत की GDP में कितना उछाल और गिरावट आयेगी। आजतक मुझे यह नहीं समझ आया की गंगाधर ही शक्तिमान है लेकिन मैं यहाँ बताऊँगा कि किसे पार्टी में लेने से नुकसान है और किसे निकालने से फायदा। वो बात अलग है कि मैंने आज तक बिना चौकीदार के मदत से ATM से पैसा तक नहीं निकाला फिर भी पेलूंगा की डिजीटल इंडिया कितना खतरनाक है। भले खुद का पिछवाड़ा धो कर मैं इतना थक जाता हूँ कि चार दिन दस्त लग जाते हैं, फिर भी बताऊँगा कि भाजपा के कार्यकर्ता कितनी मेहनत करते हैं और उन्हें टिकट ना मिलने से कितनी हताशा हुई। खुद की जिंदगी झंड तो है ही लेकिन राष्ट्रनिर्माण में लगे कार्यकर्ताओं को सीट ना मिलने से उनके मन में हताशा भर दूँगा।

मैं आजतक विडीयो गेम में मारीयो की पहली स्टेज भी नहीं पार कर पाया फिर भी यहाँ पेलता हुआ मिलूँगा कि भाजपा 300 पार नहीं जा सकती। राजनीति में अपने पक्ष के कार्यकर्ताओं का मनोबल, जनता के मन पर प्रभाव और सामने वाली पार्टी पर मनोवैज्ञानिक दबाव के लिये अगर भाजपा 300+ का नारा दे रही हो पर चिंटी के पिछवाड़े जितना मेरा दिमाग इसे समझ नहीं पाता और मैं दुसरों को भक्त बोल कर इस रणनीति का मजाक उड़ाऊंगा। बाजार में अगर मुझे नंगा छोड़ दिया जाये तो अपने लिये चड्डी तक न खरीद पाऊँ लेकिन बजट सत्र पर सबसे बड़ा अर्थशास्त्री मैं कहलाऊँगा।

मैं निजी जीवन में भले ही एक नंबर का झंडू प्रसाद हूँ लेकिन फेसबूक पर मैं अपनी इमेज को बड़ा सतर्क रहता हूँ। ऊरी हमला होते ही ऐसा धधकूंगा की वह तो सरकार ने रोक रखा है नहीं तो मैं फूँक मार कर पुरा पाकिस्तान उड़ा दूँ और जो सलाह देंगे की अबे बेवकूफ यह मसले ऐसे नहीं सुलझते उसे भक्त भक्त कहूँगा, और जैसे ही सर्जिकल स्ट्राइक होगा लोट लोट कर खुद को सबसे बड़ा मोदीसमर्थक दिखाऊंगा। और जब मुझसे पुछा जायेगा कि क्यूँ बे तु तो सरकार को नाकारा कह रहा था तो मैं झंड बुद्धि खुद को ऐसे पेश करूँगा जैसे मेरी पुरानी पोस्टें पाकिस्तान का ध्यान भटकाने के लिये लिखी थी।

भले ही मुझे यह ना पता हो कि संघ का अ आ इ ई क्या है पर यहाँ संघ और भाजपा के रिश्ते की गहराई पर अपना तियापा पेश करूँगा। मैं भले ही घर की नौकरानी पर लाइन के मारने के चक्कर में तीन तीन बार पीट चुका हूँ पर यहां लौंडो को लड़की पटाने के तीन अचुक उपाय बताऊँगा। नारी में छोटे इ की मात्रा लगती है बड़े ई कि पता नहीं पर नारीवाद पर बकवास करने में सबसे आगे मैं दिखूंगा। यह जानते हुये कि भी मेरी पोस्ट लाइक करने वाले भी बेवकूफ ही हैं फिर भी अपने पोस्ट पर आने वाले लाइक को देख मैं इस भ्रम में हूँ कि मैं बेवकूफ का सरदार नहीं हूँ।

मेरी झंड जिंदगी के बारे में और क्या लिखूँ .... जितना लिखूँ उतना कम है। लेकिन मेरी एक और खासियत यह है कि मैं एक भगोड़ा समर्थक हूँ। अगर युपी चुनाव भाजपा जीत गयी तो सबसे आगे खड़े हो कर लौंडा नाच करूँगा और हार गयी तो सबसे पहले भागूंगा और जो तब भी अपने पक्ष के साथ मजबूती से खड़े हैं उन्हें भक्त भक्त कह कर खुद को तटस्थ दिखाने की नौटंकी करूँगा। और हाँ मैं आप हर किसी की आईडी में किसी ना किसी नाम से जरूर मिलूँगा।इतना जानने के बाद भी तुम अगर मुझे तर्क करने लायक समझतो हो तो तुम साले मुझसे भी बड़े बेवकूफ हो। मेरा ब्रह्मास्त्र है कि जब मैं तर्क ना कर पाऊँ तो तुम्हें भक्त कह दूँगा।

धन्यवाद।


टिप्पणी

क्रमबद्ध करें

© C2016 - 2020 सर्वाधिकार सुरक्षित Website Security Test