हिन्दी English



" चढ़ा मज़हबी भूत न ध्वज को नमन किये वे ।"

गणतंत्र दिवस पर एक समाचार फ़ोटो सहित प्रकाशित हुआ ,जिसमेँ हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति श्री प्रणव मुखर्जी भारत के राष्ट्र् ध्वज को नमन करते दर्शित हैं किन्तु उपराष्ट्र् पति श्री हामिद अंसारी ध्वज को नमन न करके सीधे खड़े दिखाई देते हैं । कुछ कठमुल्लों से जानकारी मिली कि राष्ट्र् ध्वज को नमन 'इस्लाम के खिलाफ' है । उपरष्ट्रपति ने यह ठीक किया । उनकी निर्माता निर्देशक सोनिया माईनो सहित सभी सेकुलर नेताओँ ने अंसारी जी के इस व्यवहार का मुखर / मौन समर्थन किया है ।

ईमानदारी की बात तो यह है कि उपराष्ट्रपति के रूप में वह देश के ध्वज का पारम्परिक रूप में यदि औपचारिक सम्मान भी नहीं कर सकते ,तो उन्हें अपने पद से त्यागपत्र तो दे ही देना चाहिए ।निश्चित रूप से वह ऐसा नहीं करेंगे ,क्योंकि भारत की संस्कृति ,सनातन परम्परा और भारतीय राष्ट्रीय रीतिरिवाज से समस्त सेकुलरों अर्थात् मुस्लिमों का सदैव से वैर रहा है ।
आज की पोस्ट इसी सन्दर्भ को लेकर है .....

" वाइस प्रेसिडेंट' जी , भारत माँ के पूत ।
उनके भी सिर पर दिखे , चढ़ा मज़हबी भूत।।
चढ़ा मज़हबी भूत , गवाँ ही होश दिए वे ।
पर्व रहा गणतन्त्र ,न ध्वज को नमन किये वे।।
उनका यह दुष्कृत्य ,कहें कठमुल्ले 'नाइस' ।
राष्ट्र् भक्त सब कहें , रहा यह 'सेकुलर वाइस '।।"


विशेष .......
'वाइस प्रेसिडेंट' ..... उप राष्ट्रपति (,अंग्रेजी में )
'मज़हबी भूत '.. इस्लामी उन्मादी विश्वास ।
' नाइस '.... उत्तम ,उपयुक्त । (अंग्रेजी में)

'वाइस' ..... पाप ,अवांछित ,अराष्ट्रीय व्यवहार ।
पद के पूर्व 'उप 'उपसर्ग के अर्थ में भी (अंग्रेजीमें)

टिप्पणी

क्रमबद्ध करें

© C2016 - 2020 सर्वाधिकार सुरक्षित Website Security Test