हिन्दी English


"होना नहीं हलाल ,चाहती यदि महिलायें ।
मोदी को दें वोट , अन्य से भी दिलवायें।।"
.................................................…...............

"तीन तलाक के मामले में मैं मुस्लिम बहिन बेटियों के साथ अन्याय नहीं होने दूँगा ।"  ..............."प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी "

जैसा कि मैं पूर्व में भी दृढ़ता से कहता रहा हूँ कि इकतरफा
'तीन तलाक' ,'हलाला' ,'मुताह' को मुस्लिम महिलाओं के विरुद्ध अमानवीय अपराध मानता रहा हूँ और अपराध अपराध है उसका कोई मजहब नहीं होता ,न ही वह किसी मजहबी समुदाय का आतंरिक मामला हो सकता । मोदी ने अनेक अवसरों पर
मुस्लिम बहिन बेटियों को सदियों से चले आ रहे इस अभिशाप से
मुक्त करने के लिए दृढ़ता से घोषणा की है ,किन्तु "राज्यसभा में
में मर्दवादी सेकुलर अर्थात् इस्लामवादी दलों का बहुमत "होने के कारण मोदी का संकल्प पूरा नहीं हो पा रहा है । अब उत्तर प्रदेश
के आगामी विधानसभा के चुनाव पर ही सबकुछ निर्भर है ।यदि
यह चुनाव मोदी का दल जीतता है ।तो आगामी द्वि वार्षिक चुनाव में यू पी से राज्यसभा के लिए होने वाले चुनाव में बीजेपी के जीतने से उसका राज्यसभा में भी बहुमत हो जायेगा और मुस्लिम महिलाओं की मुक्ति का मार्ग प्रशस्त हो जाये गा ।
इसी पृष्ठभूमि में "मुस्लिम बहिन बेटियों "से एक 'विशेष
निवेदन' के साथ यह पोस्ट प्रस्तुत है.....

" घोषित दृढ़ता से किये , मोदी निज संकल्प ।
निश्चित 'तीन तलाक 'का , समय वचा अति अल्प।।
समय वचा अति अल्प , 'मज़हबी' 'मर्दवाद ' का।
इस चुनाव के साथ , अन्त है 'इस विवाद ' का।।
बेटी बहिन गुलाम , रहीँ अब तक जो शोषित ।
होंगी ' मुक्त स्वतंत्र' , किये मोदी जी घोषित।।"

"जोरू ' की समता करें ,'जर जमीन ' के साथ ।
जभी सुनाई पड़े 'यह' , ठनके मेरा माथ ।।
ठनके मेरा माथ , 'विकाऊ' जड़ जमीन है ?
क्यों औरत इस भांति, हुई बेबस अधीन है ??
औरत से व्यवहार , करें ज्यों 'गइया -गोरू' !
जर जमीन - सी नहीं , रहेगी मुस्लिम जोरू ।।

" काजी कठमुल्ले कुटिल, जितने दुष्ट 'दलाल'।
चाहें उनसे यदि कभी , होना नहीं 'हलाल' ।।
होना नहीं हलाल , चाहतीं यदि महिलायें ।
मोदी को दें वोट , अन्य से भी दिलवायें ।।
औरत को जो 'भोज्य, वस्तु ' कहते हैं पाजी ।
बनते ही सरकार , 'मरेंगे ' वे सब काजी ।।"

टिप्पणी

क्रमबद्ध करें

© C2016 - 2020 सर्वाधिकार सुरक्षित Website Security Test