हिन्दी English



भगवान श्री हरी विष्णु महिला विरोधी है ........ आप कोई भी चित्र देखिये माता लक्ष्मी का वास प्रभु के चरणों में होगा वो भी प्रभु के पाँव दबाते हुए - एक फेमिनिस्ट की पोस्ट

भारतीय सेना बलात्कारी है ........ भोले भाले कश्मीरियों पर ज़ुल्म करती है और मासूम महिलाओं का बलात्कार - दूसरी फेमिनिस्ट

नागा संत सभ्य समाज में रहने लायक नहीं है ........ इनको देखते ही मुझे घिन्न सी आती है - तीसरी फेमिनिस्ट

संघी मुसंघी सब कमीने होते है महिलाओं से कैसे बात की जाती है इनमें तमीज़ नहीं होती - चौथी फेमिनिस्ट

सारे पुरुष बलात्कारी होते हैं ........ बस मौका मिलने की देरी है और जब मिला मौका चील कौव्वों की भांति अबला नारी पे झपट पड़ते हैं - पांचवी फेमिनिस्ट

हम सड़कों पे सेक्स करें या किस्स ........ सरकार होती कौन है हमें रोकने वाली ......... कमीनी संघी सरकार संघी प्रधानमंत्री ........ खुद की पत्नी भी नहीं संभाल पाया - छवीं फेमिनिस्ट

जब पुरुष आधी रात को सड़कों पर घूम सकते है तो हम क्यों नहीं ........ हम क्या पहनें क्या ना पहनें ये तय करने वाले आप होते कौन हो - सातवीं फेमिनिस्ट

★★★

अक्सर छद्म महिलावादी वामपंथी फेमिनिस्ट की पोस्ट उठा के देख लीजिये इन्हीं सब विचारों और शब्दों के इर्द गिर्द घूमेगी ........

सेक्युलर हिन्दू महिला/पुरुष ........ वामपंथी आपिये कांग्रेसी महिला/पुरुष ........ सो कॉल्ड प्रगतिशील बुद्धिजीवी और भाई जान लोग कमेन्ट बॉक्स में हां में हां मिला के संघियों भक्तों भाजपाइयों को जम के गरियाएंगे .........

एक होती है मऊगा प्रजाति ........ मऊगा भोजपुरिया शब्द है हिंदी में इनको महिलावादी पुरुष समझ सकते है आप ......... मारवाड़ी/राजस्थानी में इनको मोलिया कहा जाता है ......... भगवान ने इनको गलती से पुरुष बना दिया और ये प्रजाति खुद के पुरुषत्व पर शर्मिंदा होती है ......... नारी विरोधी पोस्ट से इनकी भावना बेन आहत हो जाती है ......... फेसबुक पे ये ज्यादा संघियों और राष्ट्रवादी विचारधारा के लोगों को ऐड रखते हैं ......... खुद को सबसे बड़का वाला राष्ट्रवादी समझते हैं अति संस्कारवान .........

हम इनको छिद्रपूजक कहते हैं ......... अब इन पोस्टों पे इनके कमेन्ट देखिएगा .........

★★★

छिद्रपूजक प्रथम - एकदम सही कह रही हो बाबु तुम ......... भगवान विष्णु को कोई हक नहीं माता लक्ष्मी से पाँव दबवाने का ........ माता लक्ष्मी को प्रतिकार करना चाहिए ......... विरोध करने वाले संघियों भक्तों को अपनी लिस्ट से बाहर निकाल फेंको किसी दिन .........

छिद्रपूजक द्वितीय - सारी सेना का तो पत्ता नहीं है लेकिन हां ये सच है हमारे फौजी बलात्कार करते हैं ......... घुस खाते है कमीशन खाते है ......... साले सब बेईमान है कश्मीरियों पे ही नहीं नार्थ ईस्ट वालों पे भी अत्याचार करते हैं ......... संघी पोस्ट पे बकवास करे तो पेल के ब्लॉक मारो बेबी .........

छिद्रपूजक तृतीय - नागा संत मुझे मिल जाये तो इनके पिछवाड़े बांस ठेल दूँ ........ छईईईईई सभ्य समाज में रहने लायक नहीं है ये ......... ढोंगी साले ........ हमारी बहन बेटियां बाहर भी नहीं निकल सकती ......... भक्तों संघियों की जम के खबर ले ली तुमने अब बिलबिला के बाहर निकलेंगे ......... पेल पाल के ब्लॉक करना कमीनों को हम साथ हैं .........

छिद्रपूजक चतुर्थ - मैं तो कहता हूँ किसी की भी रिक्वेस्ट आये तो पहले वाल देखो ......... संघी सब गालीबाज होते हैं ये संघ का नाम बदनाम करते हैं ......... फ़ेसबुकिया सड़कछाप गालीबाज लौंडे ......... दम है तो हमसे टकराए शरीफ महिलाओं को परेशान करते हैं ......... (शरीफ शब्द पे गौर कीजियेगा) ......... संघियों को लिस्ट से GPL करो बाबू ..........

छिद्रपूजक पंचम - तुम एकदम सही कह रही हो ......... सारे पुरुष ठरक्कि होते हैं ........ वासना हवस कूट कूट के भरी होती है इनमे ......... घर पे अपनी माँ बहन तक को गन्दी नजरों से देखते हैं ......... कमीने साले और हां इन भक्तों संघियों को सबको लिस्ट से बाहर कर के ब्लॉक मारो .........

छिद्रपूजक छ्वां - आखिर इस देश में कानून नाम की कोई चीज है या नहीं ......... ये सरकार असहिष्णु है अब बोलो सड़क पे किस्स लेने से भी इनको पिरोब्ल्म है ......... हम संघी सरकार को उखाड़ फेंकेगे ......... फलानि तुम संघर्ष करो ......... और हां संघियों को चुन चुन के लिस्ट से बाहर करो .........

छिद्रपूजक सप्तम - हर महिला को आजादी है वो क्या पहनें क्या ना पहनें ......... आखिर सरकार और भक्त तय करेंगे क्या महिलाओं का ड्रेस कोड ......... साले सम्लेंगिलक संघी ......... ऐसे ही कुढ़ कुढ़ के मर जायेंगे ये ......... जो मन पहनो आप ......... इन संघियों की नजर में ही खोट है सालों को ऐड ही मत करो सब को ब्लॉक करो .........

★★★★★★★★★

टिप्पणी

क्रमबद्ध करें

© C2016 - 2020 सर्वाधिकार सुरक्षित Website Security Test